शिक्षक पंचायत संवर्ग का संविलियन शिविर,हजारों शिक्षक पंचायत हो जायेंगे शिक्षा विभाग के अधीन



1 जुलाई 2019 को 8 वर्ष या उससे अधिक की सेवा पूर्ण करने वाले शिक्षक पंचायत संवर्ग का होगा संविलियन 
छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा 8 वर्ष पूर्ण करने वाले शिक्षक पंचायत संवर्ग का संविलियन किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ के शासकीय स्कूलों में कार्यरत शिक्षक पंचायत कई वर्षों से संविलियन की मांग कर रहे थे। इसके लिए शिक्षाकर्मीयों को काफी लम्बी लड़ाई लड़नी पड़ी। आखिरकार पिछले साल जुलाई में संविलियन की प्रक्रिया शुरू हो गयी। और लगभग एक लाख तीन हजार शिक्षा कर्मियों का स्कूल शिक्षा विभाग में संविलियन कर दिया गया।



2018 में संविलियन की प्रक्रिया शुरू होने पर शिक्षक पंचायत (शिक्षाकर्मी ) को काफी राहत मिली और संविलियन की प्रक्रिया काफी तेजी से होने लगी। इस बीच कुछ अनियमितता भी देखने को मिली और शिक्षाकर्मी संघ ने हो रहे संविलियन को गलत तरीके से  संविलियन होना भी बताया ,क्योंकि इस समय विभाग द्वारा एलपीसी का निर्धारण भी सही तरीके से नहीं किया जा रहा था।
संविलियन की प्रक्रिया में कई बातों पर विरोधाभाष बना रहा जैसे संविलियन होने के बाद शिक्षक पंचायत संवर्ग का नाम शिक्षक एल बी संवर्ग रखा गया ,जहा पर ये कयास लगाए जाने लगा की आखिर ये एल बी संवर्ग का क्या अर्थ है और शिक्षक के साथ ये शब्द जोड़ने का क्या मतलब है। ये कन्फूजन इस लिए भी रहा क्योंकि एल बी संवर्ग का क्या मतलब है इसका कोई सही व्याख्या नहीं किया गया। 


शिक्षक एल बी एक नया संवर्ग के रूप में छत्तीसगढ़ में पैदा हुआ ,लेकिन शिक्षक के साथ इस तरह  नया नया शब्द जोड़ने से क्या तर्क प्रस्तुत करना छटे है ये समझ से परे है। अभी भी शिक्षक एल बी के कुछ सेवा शर्तें विवाद की स्थिति में है जैसे शिक्षा विभाग से कोई आदेश या निर्देश जब जारी होता है तो शिक्षक एल बी और नियमित शिक्षक इस प्रकार के अलग अलग शब्द शिक्षक वर्ग के लिए दिया जाता है। 
अब देखना ये है कि आने वाले समय में कहीं कुछ और नाम शिक्षक के लिए निर्धारित तो नहीं होता ,ये भविष्य की बात है। संविलियन शिविर के लिए समय सारिणी तय किये गए ,यहाँ देखिये किस क्रम में संविलियन की प्रक्रिया पूर्ण किये जायेंगे -डाऊनलोड


संविलियन प्रक्रिया  पूरा करने के लिए शिविर का आयोजन  -  1  जुलाई 2019 को जिन शिक्षक पंचायत को आठ वर्ष पूर्ण हो गया है उनके संविलियन के लिए शिविर का आयोजन करके संविलियन प्रक्रिया को पूर्ण करने का आदेश मंत्रालय से जारी हुआ है। इस अनुक्रम में 14 और 15 जुलाई को सभी ब्लॉक और जिले में संविलियन शिविर का आयोजन कर दायरे  वाले शिक्षक पंचायत का शिक्षा विभाग में संविलियन हो जायेगा। इसके लिए जिला स्तर में टीम भी बना लिया गया है। साथ ही सभी ब्लॉक में शिविर के आयोजन के लिए अधिकारीयों को निर्देश दिए गए है। और उनकी विशेष ड्यूटी लगायी गयी है।
ट्रांसफर खबर पढ़ें --2019 में हो रहे ट्रांसफर की सूचि। सभी जिले की ट्रांसफर लिस्ट यहाँ देखें  


संविलियन शिविर की तिथि बदली गयी - संविलियन की प्रक्रिया पुरे प्रदेश में चल रही है इसके लिए शिविर का आयोजन भी किया जा रहा है। शिविर सामान्य रूप से 14 और 15 जुलाई को आयोजित किया जाना है। परन्तु मुंगेली  जिले में संविलियन के लिए शिविर की तिथि 14 एवं 15 जुलाई को अपरिहार्य कारणों से स्थगित कर दिया गया है। अब मुंगेली जिले में संविलियन शिविर का आयोजन दिनांक 18.07.2019 को सम्बंधित विकासखंड में विकासखंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में किया जायेगा। इसके लिए सम्बंधित बीईओ ,बी आर सी ,सी ए सी ,प्राचार्य एवं प्रधान पाठक को संविलियन होने वाले शिक्षकों को सूचित करने के निर्देश दिए गए है।
  
शिक्षक संवर्ग से  सम्बन्धित अन्य जानकारी यहाँ से देखें 



Post a Comment

0 Comments