बायोमेट्रिक मशीन में शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य नहीं। मशीन का उपयोग स्कूल की जानकारी अपलोड करने के लिए किया जायेगा। कॉसमॉस टेबलेट में TEAMS APP DOWNLOAD करने का आदेश



बायोमेट्रिक मशीन में शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य नहीं। मशीन का उपयोग स्कूल की जानकारी अपलोड करने के लिए किया जायेगा। कॉसमॉस टेबलेट में  TEAMS APP DOWNLOAD करने का आदेश :-

छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा प्रदेश भर के शासकीय स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति के लिए बायोमेट्रिक मशीन सभी स्कूलों में पिछले सत्र में वितरित किया गया था जिसका क्रियान्वयन बहुत से स्कूलों में नहीं हो पाया था।

अधिकारीयों की माने तो इस सत्र एक बार फिर से प्रदेश में बायोमेट्रिक मशीन से उपस्थिति अनिवार्य करने की तैयारी कर चूकी थी ।

लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए -whatsappGroup ज्वाइन करें


 👉JOIN OFFICIAL WHATSAPP GROU P-6

लेकिन अब ताजा खबर  की शिक्षकों की उपस्थिति अब बायोमेट्रिक मशीन से जरुरी नहीं है। कारण जानने के लिए पूरा पढ़ें।  
स्कूल खुलते ही सभी शिक्षकों को अपनी उपस्थिति के साथ साथ बच्चों की उपस्थिति भी मशीन में दर्ज करना अनिवार्य किया गया था।

और सभी शिक्षक अपनी उपस्थिति बायोमेट्रिक मशीन में ही दे रहे थे । सभी कक्षा के बच्चों का नाम स्कूल के प्रोफाइल में अपलोड कर दिया गया है।

नए बच्चो की एंट्री इस सत्र किया जायेगा इसके लिए सॉफ्टवेयर को अपग्रेड किया गया है।

मध्यान्ह भोजन(MDM )की जानकारी पढ़ें -


मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग देखें। यह देखें प्रतिदिन राज्य के कितने स्कूल मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग करते है। क्या आप भी करते है ऑनलाइन रिपोर्टिंग -तो जरूर  देखें। 

नए मशीन का वितरण :-जिन स्कूलों में मशीन ख़राब हो गए है उन्हें नए मशीन दिया गया था ,और उसमे स्कूलों की सभी जानकारी अपलोड भी किया गया ।

साथ ही इसके लिए इस बार विशेष प्रशिक्षण का प्रावधान भी करने की तैयारी कर ली गयी थी।

जिससे किसी प्रकार की कोई समस्या आने पर उसे ठीक किया जा सके।

बायोमेट्रिक मशीन (BIOMERTIC MACHIN )से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी जो आपको जरूर जानना  चाहिए।  



टेबलेट ब्लास्ट की शिकायत :-पिछले सत्र में कई जगहों पर टेबलेट के ब्लास्ट होने की सुचना भी मिली थी।

इस सम्बन्ध में अधिकारीयों का कहना है ऐसी घटना से बचने के लिए मशीन में कुछ सॉफ्टवेयर चेंज किया गया है जो मशीन को अपडेट करने पर आटोमेटिक इंसटाल हो जायेगा और काम करना शुरू कर देगा।

आपत्तिजनक तस्वीर दिखाई देना :-पिछले सत्र में ऐसी भी कई जगहों से शिकायत मिली थी की टेबलेट को आन करते ही कुछ विज्ञापन शुरू हो जाते है और आपत्तिजनक तस्वीर भी दिखाई देने लगती है।

जिसके कारण इस सिस्टम का बहुत विरोध हुआ और जहा ऐसी शिकायत थी उसे आपरेटरों के द्वारा ठीक किया गया।

इस प्रकार की स्थिति कही न कही लोगों को भयभीत करने वाली है क्योंकि जहा शिक्षकों की उपस्थिति होना है वहा ऐसे तस्वीरों का आना बड़ी चूक है।

ये भी पढ़ें - छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग की जानकारी ,,अपने स्कूल की जानकारी यहाँ से प्राप्त करें। 

शिक्षकों द्वारा अपनी  उपस्थिति मशीन में किया जा रहा दर्ज 
:- जैसे कि आपको ऊपर बताया गया है कि सरकार द्वारा स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति के लिए बायोमेट्रिक मशीन को अनिवार्य कर दिया गया है।

इसके परिपालन में शिक्षकों द्वारा अपनी उपस्थिति मशीन के माध्यम से ही दर्ज किया जाता है।

दोस्तों ये सभी नियम और कानून स्कूलों में बच्चों को शिक्षा देने वाले शिक्षकों पर लागु किया जाता है। इसे  कर्मचारियों के लिए लागु किया जाना चाहिए।
शिक्षा और शिक्षकों से सम्बंधित जानकारी के लिए विजिट करें -WWW.ONLINEBHARO.COM


वेतन रोकने की चेतावनी -बायोमेट्रिक मशीन से शिक्षकों की उपस्थिति को अनिवार्य करने के साथ ही ये निर्देश भी दिया गया था  कि यदि कोई शिक्षक बायोमेट्रिक में अपनी उपस्थिति नहीं देता है तो उनका वेतन रोका जायेगा।

साथ ही इस प्रकार की शिकायत एक से अधिक बार आता है तो उस शिक्षक पर अनुशासनात्मक कार्यवाही किया जायेगा।

शिक्षकों में थी  नाराजगी - शासन के इस प्रकार के तुगलकी फरमान से शिक्षकों में काफी नाराजगी थे ।

क्योंकि हमेशा शिक्षकों पर ही तंज कसा जाता है। साथ ही स्थानीय अधिकारीयों का भी साथ शिक्षकों को नहीं मिल पाता और कुछ भी आदेश निकाल दिया जाता है।

निश्चित ही इन तमाम प्रकार के तुगलकी फरमान से शिक्षकों को मानशिक रूप से डिस्टर्ब होना पड़ता है।

सभी कार्यालयों में भी हो लागु :-बायोमेट्रिक मशीन से उपस्थिति को शासकीय कर्मचारियों के लिए लागु करना व्यवस्था में सुधार करने के उद्देश्य से ,काम समय पर हो इसके लिए ,कर्मचारी की नियमित उपस्थिति के लिए और इस प्रकार की कुछ अन्य गतिविधि के लिए किया जाता है।

लेकिन यहाँ केवल स्कूलों में शिक्षकों के लिए लागु करना कहा तक उचित है।

यदि व्यवस्था में सुधार की दृष्टि से लागु किया गया है तो ये सभी शासकीय कार्यालयों में भी लागु करना चाहिए।
जिससे सभी शासकीय कर्मचारियों में एकरूपता का व्यवहार देखा जा सके।

शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य नहीं करने के मुख्य कारण 


फ्रेंड्स जैसे की आपको ऊपर में  बायोमेट्रिक मशीन से सम्बंधित सभी जानकारी बताया गया है। और साथ ही आपको बायोमेट्रिक मशीन की अनिवार्यता को खत्म करने की भी बात बताई गयी है। 

तो फ्रेंड्स आपको बताना चाहेंगे कि छत्तीसगढ़ के शासकीय स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति को मशीन के माध्यम से दर्ज किया जा रहा था। 

जिसमे कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था जिसके बारे में आपको ऊपर बताया गया है। 

READ MORE -


शिक्षकों की उपस्थिति अब बायोमेट्रिक से करने के लिए अनिवार्यता को कई विकासखंड में हटा दिया गया है। 

जिसका कारण यह है कि स्कूलों में मोबाइल नेटवर्क का न होना ,मशीन का बार बार हैंग होना ,जैसे कारण शामिल है। 

अभी भी कई जगह बायोमेट्रिक से उपस्थिति ली जाती है। यहाँ दिए गए जानकारी कुछ जगह जहा फिलहाल बायोमेट्रिक की अनिवार्यता ख़त्म की गयी है उसके अनुसार है। 

फ्रेंड्स आप अपने स्तर पर ये जानकारी ले सकते है। यदि आपके ब्लॉक में भी अधिकारी ऐसा निर्णय लेते है तो यह आपके ऊपर भी लागु होगा इसके लिए किसी प्रकार की कोई आदेश जारी नहीं हुआ है। 

स्थानीय स्तर पर यह निर्णय लिया गया है। अधिक जानकारी के लिए आप कार्यालयों में पता करें। 

कॉसमास टेबलेट में TEAM APPS डाऊनलोड करने के निर्देश

जिले में संचालित स्कूलों के प्रधान पाठकों को एक पत्र जारी किया गया है जिसमे कहा गया है की टेबलेट में TEAM APPS डाऊनलोड करने के निर्देश दिए गए है।

आपको बता दें कि टेबलेट में इस एप्प को शिविर लगाकर डाऊनलोड करने कहा गया है। और जिन शालाओं के टेबलेट को अपडेट करने के लिए शिविर में शामिल नहीं हुए तो उस संस्था के संस्था प्रमुख की वेतन रोकने के भी निर्देश दिया गया है।

ये आदेश आप निचे दिए लिंक से डाऊनलोड कर सकते है। 
यहाँ से करें डाऊनलोड -कॉस्मॉस टेबलेट अपडेट करने आदेश 

TEAMS APP  के बारे में जानें -


लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें आपको निचे ग्रुप का लिंक दिया गया है आप यहाँ से सीधे ज्वाइन कर कर सकते है। 
 👉JOIN OFFICIAL WHATSAPP GROUP -1
 👉JOIN OFFICIAL WHATSAPP GROU P-6

Post a Comment

0 Comments