मध्यान्ह भोजन योजना छत्तीसगढ़ -MDM Online Reporting CG । छत्तीसगढ़ के स्कूलों में मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन जानकारी कैसे देखें ?



मध्यान्ह भोजन योजना छत्तीसगढ़ -MDM Online Reporting CG  

नमस्कार दोस्तों onlinebharo.com में आपका स्वागत है। दोस्तों हमारे इस वेबसाइट में सभी प्रकार की ऑनलाइन और ऑफलाइन जानकारी के बारे में बताया जाता है। दोस्तों इस वेबसाइट में शिक्षा और शिक्षकों से सम्बंधित जानकारी भी निरंतर पोस्ट किया जाता है। 

यदि आप हमारे वेबसाइट के नियमित पाठक है तो ये आपको मालूम भी होगा। दोस्तों आज भी हम आपको शिक्षा से सम्बंधित स्कूलों में मिलने वाली मध्यान्ह भोजन योजना की विस्तृत जानकारी बताएंगे। 
फ्रेंड्स आज के इस पोस्ट में  आपको बताएँगे की मध्यान्ह भोजन योजना की जानकारी आप ऑनलाइन कैसे देख सकते है। आपको बताया गया है कि आप अपने राज्य में मध्यानःभोजन की ताजा जानकारी प्रतिदिन की रिपोर्ट कैसे देखें ? अपने जिले की मध्यान्ह भोजन की जानकारी कैसे देखें ? 

आप देख पाएंगे की कितने स्कूल रोज मध्यान्ह भोजन की जानकारी ऑनलाइन अपलोड करते हैं। फ्रेंड्स आप इन सभी जानकारी को एक क्लिक में देख सकते है। इसके लिए आपको हमारे इस पोस्ट में सभी का लिंक दिया गया है। तो चलिए फ्रेंड्स शुरू करते है।
 
मध्यान्ह भोजन योजना  क्या है What Is MDM  Programme ?

मध्यान्ह भोजन योजना भारत सरकार  की एक महत्वाकांक्षी योजना है जिसके अंतर्गत पुरे देश के प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक विद्यालयों के छात्रों को दोपहर का भोजन निः शुल्क प्रदान किया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य बच्चों के पोषण स्तर को उन्नत करना है। साथ ही सरकार इस योजना को बच्चों के शैक्षिक स्तर के साथ साथ शारीरिक और मानसिक स्तर को सुदृढ़ करना है।

मध्यान्ह भोजन को हम दोपहर भोजन योजना कह सकते है क्योकि मध्यान्ह भोजन दोपहर के खाने के रूप में दिया जाता है। मधेनः भोजन शुरुआत के इतिहास में जाएँ तो यह काफी रोचक और महत्वपूर्ण है। इस योजना के मुख्य उद्देश्य सरकारी स्कूलों में बच्चों का मानसिक विकास के साथ ही शारीरिक विकास को भी ध्यान दिया जाना है। मध्यान्ह भोजन योजना पुरे भारत में प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक विद्यालय में पढ़ने वालों बच्चों को दिया जाता है। 

मध्यान्ह भोजन योजना की शुरुआत : फ्रेंड्स मध्यान्ह भोजन योजना के बारे में यदि विस्तार से बात करें तो सबसे पहले इसकी शुरुआत के बारे में बात कर लेते है -कई बार ऐसा होता है फ्रेंड्स कि हमारे सामने ऐसे भी कुछ सवाल आ जाते है जिसके बारे में हमें मालूम नहीं होता है। 

जैसे कि कोई ये पूछ लिया की मधयान्ह भोजन योजना की शुरुआत कब हुई। फ्रेंड्स सामान्यतः  हम इन बातों को ध्यान नहीं देते लेकिन आपको  जानना भी जरुरी है। तो चलिए आपको बताते है मध्यान्ह योजना की शुरुआत के बारे में। 


मध्यान्ह भोजन योजना की शुरुआत देश के 38 जिलों के 248 ब्लॉकों में 15 अगस्त 1995 को एक केंद्रीय प्रायोजित स्किम के रूप में प्रारम्भ की गयी थी। वर्ष 1997 -98 तक यह योजना देश के सभी ब्लॉकों में शुरू कर दी गयी। वर्ष 2003 में मधयान्ह भोजन का विस्तार शिक्षा गारंटी केंद्रों और वैकल्पिक एवं नवाचार शिक्षा केंद्रों में पढ़ने वाले बच्चों तक कर दिया गया। 
मध्यान्ह भोजन योजना का सञ्चालन भारत सरकार और राज्य सरकारों के संयुक्त प्रयासों से संचालित हो रही रही है। इसमें दोनों ही सरकारों का योगदान होता है। साथ ही आपको मालूम ही होगा यह एक राष्ट्रिय स्तर का कार्यक्रम है। 

प्रारम्भ में यह योजना कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों के लिए ही लागु किया गया था। लेकिन बाद में इसका विस्तार करके इस योजना को कक्षा 1 से कक्षा 8 तक के बच्चों के लिए लागु कर दिया गया और वर्तमान में यह योजना कक्षा 8 तक के बच्चों के लिए संचालित हो रही है। 

मध्यान्ह भोजन योजना के मुख्य उद्देश्य : मध्यान्ह भोजन योजना के उद्देश्य के बारे में यदि बात करें तो इसका मुख्य उद्देश्य शासकीय स्कूलों में बच्चों के नामांकन को बढ़ावा देना और स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति को भी लगातार बनाये रखना है। इसके साथ ही बच्चों में पौषणिक स्तर को भी बनाये रखना है। 

मध्यान्ह भोजन योजना से देश के लाखों बच्चों को लाभ मिला है। और आज यह और भी वृहद् रूप में क्रियान्वित है। अब नए नए स्किम से इसे संचलित किया जा रहा है। जैसे -स्कूलों में किचन गार्डन को बढ़ावा देना ,गार्डनिंग के माध्यम विभिन्न क्रियाकलापों को शामिल करना आदि शामिल है। 

मध्यान्ह भोजन में बच्चों को मिलने वालीं खाद्यान की मात्रा : फ्रेंड्स मध्यान्ह भोजन योजना में एक महत्वपूर्ण विषय है जिसे जानना आपके लिए बहुत जरुरी है। इसे बहुत लोग जानते ही नहीं - जिसके बारे में हम बात कर रहे है वह है मध्यान्ह भोजन योजना में बच्चों को मिलने वाली खाद्यान्ह की मात्रा। 

दोस्तों आपको यहाँ पर हम बताएँगे कि प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक विद्यालय के बच्चों को कितनी मात्रा में खाद्यान्ह रोज दिया जाना चाहिए या फिर ये कहें कि प्रतिदिन बच्चों को किस डॉ से मध्यान्ह भोजन दिया जाता है। 

प्राथमिक स्तर (Primary Level):- प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों को प्रतिदिन मिलने वाली खाद्यान्ह की मात्रा इस प्रकार है - चावल -100 ग्राम ,सब्जी -50 ग्राम ,दाल -20 ग्राम , तेल -5 ग्राम।  इसके साथ ही बच्चों को  आचार, पापड़ भी दिया जाता है। 

पूर्व माध्यमिक स्तर (Middle Level):- पूर्व माध्यमिक विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों को प्रतिदिन मिलने वाली खाद्यान्ह की मात्रा इस प्रकार है - चावल -150 ग्राम ,सब्जी -75ग्राम  ,दाल 30 ग्राम तेल 10 ग्राम  .इसके साथ बच्चों को अचार ,पापड़ भी दिया जाता है। 

मध्यान्ह भोजन की जानकारी ऑनलाइन कैसे देखें ?
MDM Ki Online Jankari Kaise Dekhe ?

मध्यान्ह भोजन की जानकारी ऑनलाइन कैसे देखें? फ्रेंड्स यदि आप शासकीय स्कूल में प्राथमिक या पूर्व माध्यमिक विद्यालय शिक्षक है तो ये जानकारी आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण और उपयोगी है। क्योंकि आज हम जो बताने वाले है सभी शिक्षकों को जानना चाहिए। आप अपने मोबाइल से मध्यान्ह  भोजन की सभी जानकारी प्राप्त कर सकते है। 

राज्य में प्रतिदिन मध्यान्ह भोजन ऑनलाइन रिपोर्टिंग कैसे चेक करें ?

:- यदि आप जानना चाहते है की आपके राज्य में प्रतिदिन कितने स्कूलों द्वारा मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन एंट्री की गयी है तो आपको नीचे दिए गए लिंक पर जाना है। इस लिंक से आप एक क्लिक में अपने राज्य में शिक्षकों की संख्या ,स्कूलों की संख्या और कितने स्कूलों ने मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग की है इसकी जानकारी प्राप्त हो जाएगी। 


यदि आप मोबाइल से देख रहे है तो इस लिंक में जाने पर आपको नीचे चित्र में बताये गए अनुसार पेज दिखाई देगा। जो आपके राज्य के प्रतिदिन शिक्षकों द्वारा मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग है। यहाँ आपको छत्तीसगढ़ राज्य की मध्यान्ह भोजन रिपोर्टिंग के बारे में बताया गया है।  


जिलेवार मध्यान्ह भोजन की प्रतिदिन ऑनलाइन रिपोर्टिंग कैसे देखें ?

:- मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग की जिलेवार स्थिति भी रोज देखि जा सकती है। आप यहाँ से प्रतिदिन आपके जिले के स्कूलों द्वारा मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग की स्थिति जान सकते है। आप यहाँ से छत्तीसगढ़ के सभी जिलों के स्कूलों द्वारा दिए गए ऑनलाइन रिपोर्टिंग की संख्या देख सकते है। अर्थात आप यहाँ से पता लगा सकते है कि जिले के कितने स्कूलों ने ऑनलाइन रिपोर्टिंग की है। इसके लिए आपको  ये स्टेप करने होंगे।

1 -सबसे पहले आपको अपने राज्य के मध्यान्ह भोजन का ऑफिसियल वेबसाइट में जाना है। यहाँ छत्तीसगढ़ राज्य का लिंक दिया गया है। लिंक 👉 mdm .cg.nic.in पर जाना है।

2-अब आपको department of school education chhattisgarh government का मध्यान्ह भोजन वाला पेज दिखाई देगा। इस पेज में आपको REPORTS मेनू का चयन करना है।

3-REPORTS मेनू का चयन करने पर आपको तीन अन्य विकल्प  मिलेंगे जिसमे आपको सबसे पहले विकल्प  CHHATTISGARH -MDM Reporting  पर टच करें।

                              
 
4 -अब आपको पुरे छत्तीसगढ़ के पंजीकृत स्कूल की संख्या ,कुल रिपोर्टिंग किये स्कूलो की संख्या ,कितने स्कूलों ने रिपोर्टिंग नहीं किये उसकी संख्या सभी स्क्रीन में दिखेगा।

5 -अब जिलेवार मध्यान्ह भोजन की रिपोर्टिंग देखने के लिए ब्लू कलर में लिखा हुआ chhattisgarh को टच करें। इसमें टच करते ही आपको छत्तीसगढ़ के सभी जिलों की रिपोर्टिंग सूचि दिखेगी। जिसमे आप देख पाएंगे कि कौन से जिले में कितने स्कूलों ने मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग की है।


विकासखंड वार मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग कैसे देखें ?

यदि आप अपने विकास खंड में प्रतिदिन मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग देखना चाहते है तो आपको अपने जिले के नाम को सलेक्ट करना है। ऐसा करते ही आपको आपके जिले के सभी  विकास खण्डों की सूचि दिखाई देगी। और इस सूचि में प्रत्येक विकासखंड द्वारा मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग दिखाई देगी कि कितने स्कूलों ने ऑनलाइन रिपोर्टिंग की है। उदाहरण के तौर पर आपको मुंगेली जिले की रिपोर्टिंग बताये गए है।  तीन विकासखंड है। स्क्रीन शॉट में देखें।


संकुलवार मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग कैसे देखें ?

यदि आप संकुलवार मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग देखना चाहते है तो आपको सबसे पहले अपने विकासखंड का चयन करना है। विकासखंड  का चयन करते ही आपको उस विकासखंड के सभी संकुलों की सूचि दिखाई देगी जिसमे पुरे संकुल की ऑनलाइन रिपोर्टिंग दिखेगी कि किस संकुल में कितने स्कूलों ने ऑनलाइन मध्यान्ह भोजन की रिपोर्टिंग की है। आपको स्क्रीन शॉट के माध्यम से बताया गया है। उदाहरण के तौर पर आपको मुंगेली जिले के संकुलों की रिपोर्टिंग देखने के बारे में बताया गया है। मुंगेली में कुल 19 संकुल है।


शालावार मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग कैसे  देखें ?

यदि आप अपने स्कूल के मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग देखना चाहते है तो आपके सबसे पहले अपने संकुल का चयन करना है। जैसे ही आप संकुल का चयन करेंगे आपके संकुल के सभी स्कूलों की सूचि दिखाई देगी जिसमे से आप अपने स्कूल की जानकारी भी देख सकते है। उदाहरण के तौर पर आपको मुंगेली जिले के पथरिया विकासखंड के पथरिया संकुल की रिपोर्टिंग का स्क्रीन शॉट दिया गया है। पथरिया संकुल में कुल 17 प्रायमरी और मिडिल स्कूल है। 


निष्कर्ष -
फ्रेंड्स आज के पोस्ट में  आपको मधयान्ह भोजन की ऑनलाइन रिपोर्टिंग कैसे देखें इसके बारे में पूरा विस्तार से बताया गया। इसमें आप सभी स्तर की ऑनलाइन रिपोर्टिंग की जानकारी देख सकते है। जैसे राज्य स्तर ,जिला स्तर ,विकासखंड स्तर ,संकुल स्तर और शाला स्तर। 


फ्रेंड्स ये उपयोगी जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो अन्य लोगों /शिक्षकों  को जरूर शेयर करें ताकि उन्हें भी इस प्रकार की जानकारी प्राप्त हो सके। और वे भी सभी ऑनलाइन रिपोर्टिंग देख सकें। 

मध्यान्ह भोजन की ऑनलाइन रीपोर्टिंग देखने में किसी प्रकार की कोई भी कन्फूजन या कोई परेशानी हो तो आप कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। इसके साथ ही यदि आपके पास कोई अन्य जानकारी या सलाह हो तो भी आप हमें अपना विचार साझा कर सकते है। 

हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप में यहाँ से ज्वाइन कर सकते है। 

इस प्रकार की अन्य जानकारी के लिए विजिट करें -www.onlinebharo.com
ये महत्वपूर्ण जानकारी भी पढ़ें:


Post a Comment

0 Comments