OMR Sheet में विद्यालय आधारित आंकलन के उत्तर को कैसे दर्ज करें



OMR Sheet में विद्यालय आधारित आंकलन के उत्तर को कैसे दर्ज करें | PPS Exam in school  | OMR क्या है ? OMR का Full form क्या है ? जानने के लिए यहाँ देखें 


विद्यालय आधारित आंकलन ( SCHOOL BASED ASSESSMENT ) शासकीय स्कूलों में आयोजित किया जा रहा है। यह आंकलन प्रतियोगी परीक्षा के तर्ज पर ली जाएगी। स्कूलों में इस प्रकार के परीक्षा को आयोजित करने के पीछे बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार करना है। स्कूलों में आजकल कई प्रकार के आंकलन लिए जा रहे है। विद्यालय स्तर पर आयोजित होने वाले सभी प्रकार के आंकलन /परीक्षा की जानकारी के लिए आप सीधे हमारे वेबसाइट  Onlinebharo.com में विजट कर सकते है।



हेल्लो फ्रेंड्स नमस्कार Onlinebharo.com  में आपका स्वागत है। फ्रेंड्स जैसे कि हमारे इस वेबसाइट में सभी प्रकार की जानकारी साझा किया जाता है - ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रकार की जानकारी यहाँ से नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए प्रसारित किया जाता है। इस वेबसाइट में सभी विभागों की जानकारी बताया जाता है। यदि आप भी अपनी जानकारी अपडेट रखना चाहते है तो onlinebharo.com को नियमित पढ़ें। और सीधे गूगल में सर्च करें।
आज के इस आर्टिकल में आपको स्कूलों में लिए जाने वाले विद्यालय आधारित आंकलन की पूरी जानकारी बताने वाले है साथ ही आपको PPS ((PREPAREDNESS PROGRAMME FOR SCHOOL) की पूरी जानकारी साझा कर रहे है। आपको यहाँ ओएमआर शीट में लिए जाने वाले आकलन को भी विस्तार से बताया गया है। पूरी जानकरी के लिए अंत तक जरूर पढ़ें।

OMR Sheet क्या है ? OMR का Full Form क्या है ? यहाँ देखें 



फ्रेंड्स यहाँ आपको OMR का पूरा नाम और इसके बारे में जानकारी दिया गया है। आपने कभी न कभी कोई प्रतियोगी परीक्षा जरूर दिया होगा और उस परीक्षा में एक विशेष प्रकार के उत्तर पुस्तिका का प्रयोग भी क्या गया होगा जिसमे कई गोले होते है। फ्रेंड्स ओएमआर शीट की बात करें तो आपने मल्टिकल चॉइस वाले प्रश्नो का उत्तर देने के लिए जिस शीट का प्रयोग किया होगा उसी सीट को ओएमआर शीट कहते है। 

OMR (ओएमआर ) का पूरा नाम -Optical Mark Reader (आप्टिकल मार्क रीडर ) है। इसका हिंदी में अर्थ होता है आप्टिकल निशान मान्यता। OMR एक प्रकार का इस्केनर होता है जो हमारे द्वारा पेन से भरे हुए डेटा को पहचानने के लिए डिजाइन किया जाता है। 

OMR शीट में उत्तर कैसे दर्ज करें ?

ओएमआर शीट विशेष तकनीक से तैयार किया गया शीट है जिसमे हम निर्देशानुसार उत्तर अंकित करते है। ओएमआर शीट में उत्तर अंकित करने के लिए कुछ सावधानियां भी रखनी पड़ती है जैसे की इसमें चार चार गोले बने होते है इसमें से किसी एक गोले को आपको भरना होता है। गोले को पूरी तरह से काले या नीले  बाल पॉइंट पेन से भरना होता है। 

OMR शीट में भरे हुए उत्तर को ओएमआर स्केनर द्वारा रीड करके उत्तर की जाँच की जाती है। उत्तर की जाँच स्केनर प्रणाली द्वारा किया जाता है। यदि आपने OMR SHEET के गोले को ठीक से नहीं भरा है तो स्केनर उसे स्केन नहीं कर पायेगा और आपके द्वारा दिए उत्तर को अमान्य कर दिया जायेगा।

OMR Sheet के मुख्य भाग 


PPS के अंतर्गत स्कूलों में कक्षा 3,5 और 8 के बच्चों का विद्यालय आधारित आंकलन के लिए प्रश्नो के उत्तर को जिस OMR शीट में दर्ज किया जायेगा उसमे मुख्य तीन भाग है। इन भागों में कुछ जानकारी शिक्षकों को भी भरना है और उत्तर वाला भाग बच्चों को भरना है। तो चलिए फ्रेंड्स आपको बताते है OMR शीट के तीनो भागों के बारे में और उसमे भरने वाले जानकारी के बारे में।

OMR का पहला भाग - OMR SHEET के पहले भाग में विद्यालय का नाम और विद्यार्थी का नाम भरना है। ये जानकारी बच्चों द्वारा भरा जायेगा जिसे शिक्षक द्वारा जांच किया जायेगा यदि कोई त्रुटि हुई हो तो उसमे आवश्यक सुधार करें।

OMR का दूसरा भाग - OMR SHEET के दूसरे भाग में उत्तर अंकित करने का सही और गलत तरीका के बारे में बताया गया है। विद्यार्थियों को इससे सही उत्तर अंकित करने में सहायता मिलेगी। आपके मदद के लिए स्कीन शॉट नीचे दिया गया है।


दूसरे भाग में ही एक महत्वपूर्ण जानकारी भी भरना है। इसमें आपको स्कूल का UDISE CODE और STUDENT ID भी भरना है। ये जानकारी शिक्षक के मार्गदर्शन में विद्यार्थी भरेंगे। प्राथमिक स्तर में ये जानकारी शिक्षकों को भरना चाहिए। इस भाग में 0 से 9 तक अंको का सीरीज दिया गया है

इस भाग के  ऊपर हिस्से में 11खाली बॉक्स बने हुए है इन बॉक्सों में UDISE कोड और STUDENT ID को अंकों में भरना है। इन अंकों के नीचे दिए गए संबंधित अंक वाले गोले को काले या नीले बाल पॉइंट पेन से पूरी तरह भरना है। जैसा की स्क्रीन शॉट में बताया गया है।


OMR का तीसरा भाग - OMR SHEET का तीसरा भाग प्रश्नों के उत्तर दर्ज करने के लिए है इस भाग में सभी विषयों के लिए अलग अलग भाग है जिसमे विषयों का नाम अंकित है।  प्रत्येक विषय में 15 -15 प्रश्नों के उत्तर अंकित करने के लिए दिए गए है। ये भाग विद्यार्थी द्वारा भरा जायेगा। प्रत्येक विषय का प्रश्न पत्र अलग से दिए जायेंगे। यहाँ पर सभी विषय के प्रश्न बहुविकल्पीय होंगे जिसमे चार चार उत्तर दिए गए है ,इसमें से एक उत्तर सही है जिसे OMR शीट में अंकित करना होगा।


OMR शीट के इस तीसरे भाग के नीचे में पर्यवेक्षक के हस्ताक्षर के लिए जगह दिया गया है जिसमे पर्यवेक्षक (शिक्षक ) विद्यार्थी द्वारा बहरे गए जानकारी को चेक करके अपना हस्ताक्षर करेंगे। यहाँ पर ये ध्यान देना बहुत जरुरी है की पर्यवेक्षक को OMR शीट में हस्ताक्षर करना अनिवार्य है।

पर्यवेक्षक (वीक्षक)  के लिए आवश्यक निर्देश 

परीक्षा में वीक्षक का मत्वपूर्ण कार्य होता है क्योंकि किसी भी परीक्षा को सम्पन्न करने के लिए एक अच्छे वीक्षक की भूमिका महत्वपूर्ण माना जाता है। यहाँ पर भी स्कूलों में आयोजित होने वाले परीक्षा को संपन्न करने के लिए वीक्षक के लिए कुछ आवश्यक निर्देश बताया गया है जो वीक्षक के लिए अति महत्वपूर्ण है।

>> भाषा के प्रश्न 1 से 15 तक ,विज्ञान के प्रश्न 16 से 30 तक और गणित के प्रश्न 31 से 45 तक एवं सामाजिक विज्ञानं के प्रश्न  46 से 60 तक है।

>> ओएमआर शीट एवं परिक्षण पुस्तिका के कवर पृष्ट पर विद्यालय का UDISE कोड ,क्षेत्र कोड जिसमे ग्रामीण के लिए -1 एवं शहरी के लिए -2 अंकित करना है। विद्यालय प्रबंधन में सरकारी के लिए -1  और सहायता प्राप्त के लिए -2 दर्ज करना है।

>> विद्यार्थी से संबधित विभिन्न कोड की प्रविष्टि भी करनी है जैसे -आधार संख्या ,लिंग ,सामाजिक वर्ग ,विशेष आवश्यकता वाला बच्चा ,विद्यार्थी ,विद्यालय ,जिला एवं राज्य का नाम अंकित करना होगा।

>> परिक्षण पुस्तिका वितरित करने से पहले स्कूल रजिस्टर या कक्षा शिक्षक की मदद से प्रथम पृष्ठ पर सभी आवश्यक प्रविष्टि को पूरा भर लें।

>> भरे जाने वाले सभी प्रविष्टि अनिवार्य है अर्थात ये प्रविष्टियां भरना जरुरी है। ये भी ध्यान रखें कि सभी कोड अंतराष्ट्रीय संख्याओं में लिखना है जैसे -1 ,2,3,...........

>> वीक्षक को यह सुनिश्चित कर लेना है की सभी बच्चे अपने अपने जगह पर आराम से बैठ गए है इसके साथ ही बच्चों को ये भी निर्देशित कर दें कि वे रबर और पेन्सिल ,पेन आदि जो आवश्यक हो को अपने मेज पर रख लें।

>> बच्चों को अब परिक्षण पुस्तिका का वितरण करें और बच्चों से ये जरूर कहें कि जब तक पुस्तिका को खोलने के लिए न कहा जाय तब तक न खोलें।

>>  पुस्तिका में दिए गए प्रश्नों के उत्तर को ढूंढने के लिए बच्चों को कहें। उन्हें बताएं कि दिए गए विकल्पों में से कोई एक उत्तर सही है उसका ही चयन करना है।

>>  वीक्षक इस बात का जरूर ध्यान रखें कि बच्चे अपने आप ही प्रश्नों का उत्तर ढूंढें और हल करें। बच्चों को प्रश्नों के उत्तर के लिए किसी प्रकार का कोई संकेत न दें और न ही किसी प्रकार की मदद करें।

>> बच्चों को पूरा प्रश्न हल करने के लिए 90 मिनट का समय दिया जायेगा। ये बच्चों को जरूर बता दें ताकि बच्चे समय को मैनेज करना सीखें।

>>  परीक्षा समय पूर्ण हो जाने पर या परीक्षा पूरा कर लेने के बाद बच्चों से परीक्षा -पुस्तिका को वापस लें।

>> परीक्षा पुस्तिका को बच्चों के कोड के बढ़ते क्रम में लगाना है। वीक्षक को यहाँ पर ये सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि बच्चों की पुस्तिका की संख्या परीक्षा में उपस्थित बच्चों की संख्या के बराबर हो।

सम्बन्धित ये जानकारी भी पढ़ें   

👉PPS के बारे में ये जानकारी पढ़ें। विद्यालय आधारित आंकलन क्या है और इसे कैसे आयोजित करें ?






👉राज्य स्तरीय आंकलन कैसे करें ?

लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें आपको निचे ग्रुप का लिंक दिया गया है आप यहाँ से सीधे ज्वाइन कर कर सकते है। 

👉JOIN OFFICIAL WHATSAPP GROUP -1



 लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए -whatsappGroup ज्वाइन करें

Post a Comment

0 Comments