क्रमोन्नति/समयमान वेतन की जानकारी।Kramonnati Vetan Ki Jankari . 10 वर्ष सेवा पूर्ण करने पर क्रमोन्नति की पात्रता। संयुक्त संचालक ने क्रमोन्नति वेतन के संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी को जारी किया पत्र।



क्रमोन्नति/समयमान वेतन की जानकारी।Kramonnati Vetan Ki Jankari . 10 वर्ष सेवा पूर्ण करने पर क्रमोन्नति की पात्रता। संयुक्त संचालक ने क्रमोन्नति वेतन के संबंध में  जिला शिक्षा अधिकारी  को जारी किया पत्र। 



Hello फ्रेंड्स नमस्कार Onlinebharo.com में आपका स्वागत है फ्रेंड्स आज आपको शिक्षकों के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण जानकारी साझा करने वाले है। जैसे कि हमारे इस वेबसाइट में शिक्षकों की सभी जानकारी नियमित रूप से अपडेट की जाती है। जैसे -पदोन्नति ,क्रमोन्नति ,समयमान वेतनमान एवं स्थानांतरण जैसे सभी जानकारी आनलाइंन  दी जाती है।


आज के आर्टिकल में विशेष रूप से क्रमोन्नति/समयमान  के बारे में चर्चा की जाएगी और साथ ही क्रमोन्नति की ताजा स्थिति के बारे में भी आपको बताया जाएगा। इन सभी जानकारी के लिए आप ये पोस्ट शुरू से अंत तक जरूर पढ़ें। 

संविलियन पूर्व एरियर्स राशि की जानकारी 

शिक्षाकर्मियों का संविलियन शिक्षा विभाग में 01.07.2018 को हुआ है। संविलियन के बाद शिक्षाकर्मी को एल बी संवर्ग में रखा गया है। और अब शिक्षाकर्मी राज्य सरकार के कर्मचारी है। संविलियन आदेश जारी करने के साथ सरकार ने उसमे एक ऐसा निर्णय लिया जिसमे कहा गया है कि संविलियन के पूर्व की सेवा के लिए शिक्षा विभाग किसी प्रकार की कोई एरियर्स राशि का भुगतान नहीं करेगा।

शिक्षा कर्मी संविलियन के पूर्व पंचायत /नगरीय निकाय के कर्मचारी थे जिसके कारण शिक्षा विभाग किसी भी प्रकार के वित्तीय मामले में सीधे सीधे ये बोल देता है कि 01 जुलाई 2018 के पूर्व एरियर्स राशि की भुगतान पंचायत या नगरीय निकाय करे।

क्रमोन्नति के मामले में शिक्षा विभाग का तर्क होता है कि संविलियन के पहले क्रमोन्नति या समयमान वेतन की गणना नियमानुसार पंचायत या नगरीय निकाय करे और उसके बाद पूर्व नियोक्ता द्वारा जारी किये गए एल पी सी के आधार पर शिक्षा विभाग में वेतन निर्धारण किया जायेगा।

ऊपर बताये गए विवरण का सीधा अर्थ है कि पहले क्रमोन्नति या समयमान वेतन की प्रक्रिया जनपद या जिला स्तर से शुरू होगी। यदि जनपद या जिला स्तर से क्रमोन्नति वेतन जारी कर दिया जाता है तो शिक्षा विभाग द्वारा उस वेतन के आधार पर वेतनमान जारी करेगा।

इस संबंध में संयुक्त संचालक ने जिलाशिक्षा अधिकारी को पत्र भी जारी किया है इस पत्र में भी ऊपर बताये अनुसार कार्यवाही करने को कहा गया है। संयुक्त संचालक का पत्र निचे दिए लिंक से डाऊनलोड कर सकते है। 
👉संयुक्त संचालक द्वारा Deo को  जारी पत्र डाऊनलोड करें 


फ्रेंड्स आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में कई जिलों में शिक्षकों को क्रमोन्नति वेतन मिल रहा है ,तो कई जिलों में  शिक्षक क्रमोन्नति वेतन के लिए प्रयास कर रहे है। अभी हाल ही में क्रमोन्नति वेतन की बात करें तो जांजगीर जिले में लगभग 19 सहायक शिक्षकों को क्रमोन्नति वेतन जारी किया था। 

क्रमोन्नति वेतन जारी करने के बाद पुनः अधिकारीयों द्वारा मिल रहे क्रमोन्नति वेतन में रिकवरी करने का आदेश जारी कर दिए। क्या आपको मालूम है आखिर क्यों जारी किया गया रिकवरी आदेश। आपको इस आर्टिकल में इसका भी उत्तर मिल जाएगा। 

क्या है क्रमोन्नति वेतन ? What Is Kramonnati Vetan ?



फ्रेंड्स क्रमोन्नति वेतन कैसे मिलेगा ये जानने के पहले आपको ये जानना भी बहुत जरुरी है कि आखिर ये क्रमोन्नति वेतन क्या है ? और ये वेतन कैसे कब और किसे मिलता है ? चलिए आपको ये सभी जानकारी पहले बताते है। 

क्रमोन्नति वेतन कर्मचारियों को दिए जाने वाले वेतन है जिसके लिए अलग अलग विभागों द्वारा अलग अलग समय निर्धारित किया जाताहै। साथ ही ये क्रमोन्नति वेतन पद के आधार पर भी निर्धारित किया जाता है। जैसे अ और ब वर्ग के कर्मचारियों के लिए 8 वर्ष और स वर्ग के कर्मचारियों के लिए 10 वर्ष का समय निर्धारित किया गया है। 

क्रमोन्नति वेतन तब दिया जाता  जब कर्मचारी को पदोन्नति प्राप्त नहीं होता। इसका अर्थ यह हुआ कि जब कोई कर्मचारी निर्धारित समय में पदोन्नति प्राप्त नहीं कर पाता है तो उसके लिए क्रमोन्नति का प्रावधान किया गया है। इसमें कर्मचारी का वेतन बढ़ जाता है लेकिन पद वही रहता है। 

क्रमोन्नति के लिए जिला शिक्षा अधिकारी ने बीइओ को जारी किया लेटर ,यहाँ देखें 👇

क्रमोन्नति Deo लेटर 
क्रमोन्नति के सम्बन्ध में अभी हाल ही में चर्चा का विषय रहा जांजगीर चाम्पा जिला। जी हां फ्रेंड्स आपने भी इसके बारे में जरूर सूना होगा। आज हम आपको यहाँ इस विषय में पूरी जानकारी बताने जा रहे है। आखिर क्या था मामला इस जिले में मिलने वाले क्रमोन्नति वेतन को रोकने का। आपको ये भी बताने वाले है कि क्या यहाँ क्रमोन्नति वेतन फिर से मिल पायेगा ? 

जिले में लगभग 19 सहायक शिक्षकों को क्रमोन्नति वेतन जारी किया जा चुका था और उन्हें वेतन मिलना शुरू भी हो गया था लेकि अगले कुछ दिनों में ही एक खबर मिला कि अब उनको मिलने वाले क्रमोन्नति वेतन में रिकवरी की जाय।

वेतन में रिकवरी का कारण था कि अधिकारीयों द्वारा इस वेतन का सत्यापन स्थानीय निधि द्वारा नहीं कराया जाना। वेतन का सत्यापन किये बिना ही सभी सहायक शिक्षकों को वेतन जारी कर दिया गया था। आनन फानन में बीइओ द्वारा इन शिक्षकों को मिल रहे वेतन पर रोक लगाने के आदेश जारी कर दिए गए है। 

सहायक शिक्षकों को जारी किये गए वेतन के सम्बन्ध में अब जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा विकासखंड शिक्षा अधिकारी को पत्र लिखा गया है। इस पत्र में कहा गया है कि विकासखंड के सहायक शिक्षक एल बी और शिक्षक एल बी द्वारा क्रमोन्नति की मांग की जा रही है। जिहे 10 वर्ष पूरा हो गया है।

जिलाशिक्षा अधिकारी द्वारा विकासखंड शिक्षा अधिकारी को जारी पत्र में इस बात को स्पष्ट किया गया है की 10 वर्ष की सेवा पूरा करने वाले सहायक शिक्षक (एल बी) और शिक्षक  (एल बी) को क्रमोन्नति वेतन मिलेगा।  और यह वेतन सबसे पहले जनपद और जिला पंचायत से  जाएगा। 

जिला शिक्षा अधिकारी ने स्पष्ट किया है कि शिक्षा विभाग में संविलियन के पूर्व की सेवा नियोक्ता (पंचायत /नगरीय निकाय ) में क्रमोन्नत /समयमान वेतन की मांग कर उसका प्रतिवेदन जिला शिक्षा अधिकारी को भेजा जाय। 

जनपद /जिला पंचायत से जारी होगी क्रमोन्नति 



संविलियन होने के बाद शिक्षक पंचायत संवर्ग शिक्षा विभाग के कर्मचारी कर्मचारी हो गए है और साथ ही शिक्षक नियमित कर्मचारी है। संविलियन आदेश जारी करते समय इस बात का उल्लेख किया गया है कि 1 जुलाई 2018 के पहले की सेवा का लाभ पंचायत /नगरीय निकाय से मिलेगा। 

संविलियन के बाद शिक्षा विभाग से लाभ प्राप्त करेंगे शिक्षक। इसका तात्पर्य यह हुआ कि अभी जो शिक्षक एल बी संवर्ग के है उनका क्रमोन्नति आदेश सबसे पहले जनपद /जिला पंचायत से जारी किया जाएगा। इसके बाद वर्तमान में शिक्षा विभाग द्वारा वेतन जारी किया जाएगा। 

ऐसे मिला  सहायक शिक्षकों को क्रमोन्नति वेतन 



सहायक शिक्षकों को जांजगीर जिले में  क्रमोन्नति वेतन जो प्राप्त हुआ उसके लिए वहा के शिक्षकों ने कोर्ट का सहारा लिया और कोर्ट में अधिवक्ता के माध्यम से याचिका लगाया जिसे कोर्ट ने उचित मानते हुए इन शिक्षकों के पक्ष में फैसला सुनते हुए शासन को क्रमोन्नति वेतन देने के आदेश जारी किये। 

 लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए -whatsappGroup ज्वाइन करें

माननीय उच्च न्यायलय छत्तीसगढ़ बिलासपुर के आदेश को आधार बनाकर इन शिक्षकों ने अपने विकासखंड और जिले में अधिकारीयों को इसके बारे में अवगत कराया और अधिकारीयों द्वारा इसके आधार पर ही क्रमोन्नति वेतन जारी कर दिया। लेकिन सत्यापन नहीं करा पाए जिसके कारण उक्त कर्मचारियों के वेतन में रिकवरी करने के निर्देश भी जारी कर दिया गया। 

स्थानीय संपरीक्षा द्वारा सेवा पुस्तिका का सत्यापन किया जाएगा और क्रमोन्नति वेतन प्राप्त करने वाले सभी शिक्षकों को इसका लाभ फिर से मिलना शुरू हो जाएगा। क्रमोन्नति की और अन्य जानकारी के लिए गूगल में सर्च करें -Onlinebharo.com .

शिक्षकों की ये जानकारी भी पढ़ें 



👉राज्यस्तरीय आंकलन का प्रश्न पत्र यहाँ से प्राप्त करें 

NPS -NSDL  से सम्बंधित ये जानकारी भी जरूर पढ़ें ;

👉NPS अकाउंट का बैलेंस चेक कैसे करें ? देखें अपने पेंशन खाते की राशि


👉 NPS-NSDL लॉगिन करने के लिए पॉसवर्ड भूलने पर क्या करें ? पासवर्ड रिसेट कैसे करें ?


लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें आपको निचे ग्रुप का लिंक दिया गया है आप यहाँ से सीधे ज्वाइन कर कर सकते है। 
👉JOIN OFFICIAL WHATSAPP GROUP -1

 लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए -whatsappGroup ज्वाइन करें

Post a Comment

0 Comments