विद्यार्थी और शिक्षकों की भाषा सम्बन्धी जानकारी को ऑनलाइन एंट्री कैसे करें ? LANGUAGE KI ONLINE ENTRY KAISE KARE SABHI STEP HINDI ME DEKHEN.



विद्यार्थी और शिक्षकों की भाषा सम्बन्धी जानकारी को ऑनलाइन एंट्री कैसे करें ? सभी स्टेप यहाँ देखें :



हेल्लो फ्रेंड्स नमस्कार onlinebharo.com में आपका स्वागत है।आज आपके लिए एक नई जानकारी ले कर आया हु।  फ्रेंड्स आज के इस आर्टिकल में हमेशा की तरह विद्यार्थी ,स्कूल और शिक्षकों  से सम्बंधित जानकारी को ऑनलाइन एंट्री करने के बारे में बताने वाले है। इससे पहले भी हमारे इस वेबसाइट के माध्यम से इस प्रकार की नई नई जानकारी बताया गया है।


शिक्षा विभाग और शिक्षकों की किसी भी अन्य जानकारी जैसे -स्कूलों की ऑनलाइन जानकारी ,शिक्षकों की पदोन्नति ,कामोन्नति ,समयमान वेतन ,राज्य स्तरीय आंकलन (SLA) ,स्कालरशिप की ऑनलाइन एंट्री ,हमर लइका हमर स्कूल आदि सभी प्रकार की जानकारी अपलोड किया गया है। आप इन जानकारियों को देखने के लिए हमारे वेबसाइट(onlinebharo.com )को सीधे गूगल में सर्च कर सकते है। 

आज के इस आर्टिकल में विद्यार्थियों की भाषा को ऑनलाइन एंट्री करने के सभी स्टेप के बारे में जानकारी साझा कर रहे है। पूरी जानकारी के लिए आप अंत तक जरूर पढ़ें और यदि ये जानकारी आपको उपयोगी लगे तो अन्य साथियों को भी जरूर शेयर करें।  

भाषा क्या है ? What Is Language ? 



भाषा (Language) वह साधन है जिसकी सहायता से हम अपने विचारों को व्यक्त कर पाते है और अपने अभिव्यक्ति को लोगों के सामने प्रस्तुत कर सकते है। कोई भी व्यक्ति बिना कोई भाषा के ज्ञान के अपने विचारों और मन की बात को बता पाने में असमर्थ है। भाषा ही एक माध्यम है जिसके द्वारा हम विचारों का आदान प्रदान कर सकते है।

भाषा हमारे मुख से उच्चारित होने वाले या निकलने वाले शब्दों और वाक्यों का वह समूह है जिसके द्वारा अपने अंदर मन की बात को अन्य लोगों तक पहुंचाई जाती है। और साथ ही दूसरे के विचारों से अवगत होते है। भाषाएँ विभिन्न प्रकार की होती है। और लोगों द्वारा कई प्रकार के भाषाओँ का उपयोग किया जाता है। 

स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों और उन बच्चों को पढ़ाने वाले शिक्षकों में वार्तालाप ,अध्यन -अध्यापन और अन्य शैक्षिक गतिविधियां भी किसी न किसी भाषा के द्वारा ही संपन्न होता है। आज हम यहाँ इन्ही भाषाओँ से सम्बंधित जानकारी को एंट्री करने के सम्बन्ध में बता रहे है। 

भाषा की एंट्री से ये जानकारी प्राप्त होगी 


भाषा सम्बन्धी जानकारी को ऑनलाइन एंट्री करने से शासन को ये पता चल पायेगा की वास्तव में कितने बच्चों को कौन कौन सी भाषा का ज्ञान है इसी प्रकार शिक्षकों का भी पता चल पायेगा कि कौन कौन से शिक्षक को हिंदी ,छत्तीसगढ़ी के आलावा अन्य भाषा का ज्ञान है।

ऑनलाइन पोर्टल में हिंदी ,छत्तीसगढ़ी भाषा के अलावा कुछ अन्य भाषा भी दिया गया है ,जिसे शिक्षक अपने जानकारी के अनुसार दर्ज करेंगे। ये जानकारी सीधे राजीव गाँधी शिक्षा मिशन के वेबसाइट में अपलोड हो जाएगी। इसके लिए आपको कुछ आसान स्टेप फॉलो करना है। यहाँ पर सभी स्टेप को विस्तार से बताया गया है। 
भाषा की जानकारी को ऑनलाइन कैसे करें ? How To Online Entry of Language Information ?

शिक्षक और बच्चों की भाषा सम्बन्धी ज्ञान को ऑनलाइन करने के लिए सभी स्टेप नीचे बताया जा रहा है। इन स्टेप का फॉलो करके आप भी अपने स्कूल में शिक्षकों और विद्यार्थियों की संख्यात्मक जानकारी को ऑनलाइन अपलोड कर सकते है। तो चलिए फ्रेंड्स शुरू करते है -

स्टेप -1 सबसे पहले आपको छत्तीसगढ़ शासन के स्कूल शिक्षा विभाग से सम्बंधित राजीव गाँधी शिक्षा मिशन के ऑफिसियल वेबसाइट http://www.ssachhattisgarh.gov.in/tri/ पर जाना है। आप इस लिंक से भी सीधे इस वेबसाइट के मुख्य पेज में पहुँच कर ऑनलाइन एंट्री कर सकते है।

स्टेप -2 जैसे ही आप ऊपर बताये हुए लिंक पर जायेंगे ,आपको राजीव गाँधी शिक्षा मिशन (सर्व शिक्षा अभियान छत्तीसगढ़ शासन ) का नया पेज दिखेगा जिसमे दिए गए बॉक्स में अपने स्कूल का यु डाइस कोड डालकर वही पर साइड में दिए गए SELECT बटन का चयन करें।


स्टेप -3 अब आपके द्वारा चयन किये गए स्कूल की सामान्य जानकारी स्क्रीन में दिखाई देगी -जैसे जिले का नाम ,विकासखंड का नाम, स्कूल का नाम ,और स्कूल की कैटेगरी (प्राथमिक)  ये सभी UDISE के अनुसार पहले से दर्ज रहेंगे।




इस पेज में आपको कुल तीन भाग मिलेंगे। मतलब आपको तीन स्टेप में जानकारी भरना है। पहले स्टेप में स्कूल की सामान्य जानकारी को चेक करना है और अपने स्कूल का पूरा पता पिन कोड सहित भरना है। यहाँ पर ध्यान देने वाली बात ये होगी कि सभी जानकारी अंग्रेजी में ही भरना है।

स्टेप -4 स्कूल का पता पिन कोड सहित भरने के बाद अब आपको अपने स्कूल में कक्षा -पहली से पांचवीं तक के बच्चों की घर में बोली जाने वाली भाषाएँ कक्षावार संख्या लिखना है। फ्रेंड्स यहाँ पर आपको वही संख्या भरना है जो कक्षा में बच्चों की दर्ज संख्या है।

अब आपको नीचे कुछ भाषाओँ का नाम दिया है जैसे छत्तीसगढ़ी ,हिंदी और अन्य यहाँ आपको क्रमशः कक्षावार बच्चों की संख्या उनके घर में बोली जाने वाली भाषा के अनुसार भरना है।

जैसे उदाहरण के लिए कक्षा पहली में कुल दर्ज संख्या 20 है। इन 20 विद्यार्थियों को ही आपको भाषावार बांटना है। चलिए अब आपको यहाँ भाषावार बाँट कर बताते है। छत्तीसगढ़ी =15 ,हिंदी =05 ,अन्य =00 .इस प्रकार 20 विद्यार्थी का भाषावार विभाजन हो गया। यही प्रक्रिया आपको अन्य कक्षा के विद्यार्थियों के लिए भी करना है।


विद्यार्थियों का भाषावार विभाजन करते वक्त इस बात का विशेष ध्यान रखना है कि कक्षा में बच्चों की दर्ज संख्या और बोली जाने वाली भाषा में विद्यार्थियों की संख्या का योग समान होनी चाहिए। 

स्टेप -5 बच्चों की कक्षावार दर्ज संख्या के आधार पर घर में बोली जाने वाली भाषा की संख्यात्मक जानकारी भरने के बाद अब आपको स्कूल में कार्यरत शिक्षकों की भाषायी ज्ञान की जानकारी को शिक्षक के नाम और मोबाइल नंबर सहित   दर्ज करना है।

इस भाग में आपको कुल तीन स्टेप में जानकारी भरना है जो नीचे दिया है ,,,👇

(1) ऐसे शिक्षकों का नाम जिन्हे बच्चों की भाषा अच्छे से आती  है। 
(2)  ऐसे शिक्षकों का नाम जिन्हे बच्चों की भाषा नहीं आती है। 
(3) संकुल में प्रचलित भाषा के ऐसे शिक्षक का नाम जो अन्य शिक्षकों को बच्चों की भाषा अच्छे से सीखा सकते है। 

शिक्षकों से सम्बंधित सभी जानकारी केवल अंग्रेजी में ही टाइप करना है। इस बात का विशेष ध्यान रखें। 

(1) ऐसे शिक्षकों का नाम जिन्हे बच्चों की भाषा अच्छे से आती  है।


इस भाग में आपको स्कूल में कार्यरत शिक्षकों का नाम लिखकर उनका मोबाइल नंबर भरना है उसके बाद भाषा १ का चयन करें ,फिर भाषा २ का चयन करें और शिक्षक को दो भाषा के अलावा अन्य भाषा का ज्ञान है तो उसका भी चयन करें।


(2)  ऐसे शिक्षकों का नाम जिन्हे बच्चों की भाषा नहीं आती है। 

यहाँ पर आपको स्कूल में पदस्थ ऐसे शिक्षक का नाम और मोबाइल दर्ज करना है जिनको बच्चों की भाषा नहीं आती है। यहाँ पर आपको ये भी बताना है कि शिक्षक को बच्चों की कौन सी भाषा नहीं आती। यदि आपके स्कूल में ऐसे शिक्षक नहीं है तो इस भाग को भरने की आवश्यकता नहीं है।


(3) संकुल में प्रचलित भाषा के ऐसे शिक्षक का नाम जो अन्य शिक्षकों को बच्चों की भाषा अच्छे से सीखा सकते है। 


इस भाग में आपको ऐसे शिक्षक का विवरण भरना है जिनको संकुल में प्रचलित भाषा को शिक्षकों को सीखा सके यहाँ पर सीधा कहा जा सकता है कि ऐसे शिक्षक जो मास्टर ट्रेनर के रूप में कार्य कर सके उनका नाम और मोबाइल नंबर के साथ उस भाषा का भी विवरण देना है जिस भाषा को वह शिक्षक अन्य शिक्षकों को बच्चों की भाषा सीखा सके।

👉JOIN WHATSAPP GROUP 

ऊपर बताये गए सभी स्टेप  सावधानी पूर्वक करें। साथ ही भाषा का चयन भी बहुत सावधानी पूर्वक करें क्योंकि एक बार डाटा अपलोड हो जाने के बाद सुधार के लिए अभी तक कोई जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गयी है।

बच्चों की संख्यात्मक जानकारी कक्षावार और घर में बोली जाने वाली भाषा के अनुसार एवं स्कूल में पदस्थ शिक्षक सी भाषायी ज्ञान की सभी जानकारी को भर लेने के बाद अंत में नीचे दिए गए SUBMIT बटन पर टैप करें।


इस प्रकार आपके स्कूल के बच्चों द्वारा घर में बोली जाने वाली भाषा सम्बन्धी बच्चों की संख्यात्मक जानकारी और स्कूल में पदस्थ शिक्षक की भाषा ज्ञान से सम्बंधित जानकारी सफलता पूर्वक दर्ज हो जाएगा जिसका एक पॉपअप मेसेज भी आएगा।

👉सीधे यहाँ से अपने स्कूल की UDISE कोड एंट्री करके जानकारी भरें। 

शिक्षा विभाग और शिक्षकों से सम्बंधित सभी प्रकार की जानकारी सबसे पहले प्राप्त करने के लिए आप हमारे वेबसाइट onlinebharo.com पर नियमित विजिट कर सकते है। इसे आप सीधे गूगल में सर्च कर सकते है।

सम्बंधित महत्वपूर्ण लिंक 


Post a Comment

0 Comments