वरिष्ठता सूचि (Seniority List ) की जानकारी ,पदोन्नति (Promotion ) के लिए वरिष्ठता सूचि जारी करने के निर्देश



वरिष्ठता सूचि (Seniority List )की जानकारी ,पदोन्नति(Promotion ) के लिए वरिष्ठता सूचि जारी करने के निर्देश -प्रधान पाठक (प्रा शाला /मा.शाला ) उ.व.शि. ,  शिक्षक (एल बी ) ई एवं टी संवर्ग  की सूचि संभाग स्तर में जारी होगी। पूरी जानकारी यहाँ देखें।   



वरिष्ठता सूचि :-लोकशिक्षण संचालनालय छत्तीसगढ़  रायपुर (DPI) ने सभी संभाग और जिला स्तर में शिक्षकों की वरिष्ठता सूचि जारी करने के निर्देश दिए है। वरिष्ठता सूचि का प्रकाशन करने के लिए  समय सीमा भी निर्धारित कर दिया गया है। इसके बाद पदोन्नति की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। 


नमस्कार दोस्तों Onlinebharo.com में आपका स्वागत है।  दोस्तों हमारे इस वेबसाइट के माध्यम से सभी प्रकार के ऑनलाइन और ऑफलाइन जानकारी दिया जाता है। फ्रेंड्स आपको बताना चाहता हु कि इस वेबसाइट में सभी विभागों की जानकारी बताई जाती है। 

शिक्षा विभाग और शिक्षकों की जानकारी हमारे इस वेबसाइट के माध्यम से आप लोगों तक पहुंचाया जाता है। जैसे -ट्रांसफर ,पदोन्नति , वरिष्ठता सूचि ,क्रमोन्नति ,समयमान और अन्य सभी प्रकार की जानकारी आप हमारे इस वेबसाइट के माध्यम से प्राप्त कर  सकते है। 


आज के इस आर्टिकल में आपको शिक्षकों की वरिष्ठता सूचि के सम्बन्ध में जानकारी देने वाले है। वरिष्ठता सूचि क्या है ? और इसे क्यों और कैसे बनाया जाता है इसके बारे में भी आपको इस आर्टिकल में बताया गया है। 

वरिष्ठता सूचि और पदोन्नति के विषय में भी आपको इस आर्टिकल में बताया गया है। इन सभी प्रकार की जानकारी के लिए गूगल में सीधे सर्च करे -Onlinebharo.com . फ्रेंड्स आपको यहाँ से सभी जानकारी प्राप्त हो जाएगी। यहाँ से आप सीधे हमारे वेबसाइट में पहुँच सकते है। 

चलिए फ्रेंड्स आपको बताते है शिक्षकों और शिक्षा विभाग की महत्वपूर्ण जानकारी। पूरी जानकारी के लिए आप अंत तक जरूर पढ़ें। फ्रेंड्स आपको सभी बातें स्पष्ट रूप से समझया गया है। वरिष्ठता सूचि और पदोन्नति सूचि के पहले आपको इसके बारे में बताते है। 

वरिष्ठता सूचि क्या है ? What Is Siniority List?




वरिष्ठता सूचि कर्मचारियों की सूचि है जिसे सम्बंधित विभागों द्वारा तैयार किया जाता है। यहाँ हम शिक्षकों की वरिष्ठता सूचि के बारे में बताने वाले है। शिक्षकों की वरिष्ठता सूचि उनके पदस्थापना तिथि के आधार पर किया जाता है। 

वरिष्ठता सूचि से शिक्षकों के सीनियर और जूनियर का पता चल जाता है। साथ ही वरिष्ठता सूचि से आप  जान सकते है कि आपके विकासखंड ,जिला और संभाग में कितने शिक्षक कार्यरत है। साथ ही आप पता कर सकते है कि आपसे सीनियर शिक्षक कितने है और जूनियर शिक्षक कितने है। 

वरिष्ठता सूचि के आधार पर ही पदोन्नति और क्रमोन्नति की प्रक्रिया को पूरा किया जाता है। वरिष्ठता सूचि तैयार करने के लिए लोकशिक्षण संचालनालय छत्तीसगढ़  रायपुर ने सभी सहायक संचालकों को निर्देश जारी कर दिए है। 




पदोन्नति की प्रक्रिया वरिष्ठता सूचि के आधार पर ही किया जाता है। पदोन्नति के लिए अलग अलग विषय शिक्षकों की सूचि तैयार की जाती है। चलिए आपको पदोन्नति के बारे में बताते है। 

पदोन्नति क्या है ? What Is Promotion ?



प्रमोशन एक विभागीय प्रक्रिया है जिसे सभी विभाग नियमानुसार निर्धरित करते है। यहाँ आपको शिक्षकों के प्रमोशन के बारे में बताते है। चलए देखते है शिक्षकों का प्रमोशन क्या है ? 

शिक्षकों के प्रमोशन की बात करे तो शिक्षा विभाग में कार्य करने वाले शिक्षकों को अलग अलग वर्गों में बांटा गया है जैसे सहायक शिक्षक ,शिक्षक ,प्रधान पाठक (प्राथमिक शाला ), प्रधान पाठक (माध्यमिक  शाला ) ,उच्च वर्ग शिक्षक ,व्याख्याता ,प्राचार्य  आदि। 

प्रमोशन की प्रक्रिया जब शुरू किया जाता है तो इस प्रकार से शिक्षकों को  पदोन्नत किया जाता है कि उनका पद बदल जाता है और अब वह शिक्षक  अगले उच्च पद में कार्य करता है। इसे आप निचे बताये अनुसार समझ सकते है। 

सहायक शिक्षक को शिक्षक के पद में ,शिक्षक को व्याख्याता के पद में ,व्याख्याता को प्राचार्य के पद में पदोन्नत किया जाता है। साथ ही उच्च वर्ग शिक्षक को माध्यमिक शाला के प्रधान पाठक और माध्यमिक शाला के प्रधान पाठक को व्याख्याता के पद में भी पदोन्नत किया जाता है। 

सहायक शिक्षक और प्राथमिक शाला के प्रधानपाठक को भी योग्यता होने और पद रिक्त होने पर व्याख्याता बनाया जा सकता है। ऐसा कई बार हुआ भी है। 

नए भर्ती के पहले होगी पदोन्नति 



स्कूल शिक्षा विभाग ने व्यापम के माध्यम से लगभग 15 हजार शिक्षकों के नियमित पदों में भर्ती करने की प्रक्रिया शुरू की थी जिसकी प्रक्रिया  लगभग पूरी कर ली गयी है। सभी पदों के परिणाम भी जारी कर दिए गए है। कुछ पदों के तो दस्तावेज का सत्यापन भी किया जा चुका है। अब केवल पदस्थापना होना बाकि है।

शिक्षकों के नवीन पदस्थापन के पहले वर्षों से कार्यरत शिक्षक अपने पदोन्नति की आस लगाए है। और हो भी क्यों नहीं यह पदोन्नति शिक्षकों का अधिकार है और नियमानुसार पदोन्नति होना भी चाहिए। 

नए भर्ती के पहले शिक्षकों का प्रमोशन जरुरी क्यों है

नए भर्ती की पदस्थापना  होने के पहले शिक्षकों की पदोन्नति क्यों जरुरी है ? इस प्रश्न का जवाब तो आपको मालूम ही है फिर भी आपको हम विस्तार से बताते है। क्योकि बहुत लोग इसे समझ नहीं पाते है। 

फ्रेंड्स चलिए आपको उदाहरण से समझाने का प्रयास करते है की पहले से कार्यरत शिक्षकों को पदोन्नति क्यों ? जैसे की कोई शिक्षक जो सहायक शिक्षक या शिक्षक के पद पर 7 वर्ष ,8 वर्ष ,या 10 वर्ष से एक ही पद में कार्य कर रहा है। 

शिक्षक जो एक ही पद में कार्य कर रहा है उसे आज तक न तो पदोन्नति मिली है और न ही क्रमोन्नति। और अब नए नियमित शिक्षक की पदस्थापना हो जाती है तो पहले से कार्य कर रहे शिक्षकों  नुक्सान होगा। इसका कारण यह होगा कि जैसे आप सहायक शिक्षक के पद में है और नए शिक्षक भर्ती के तहत शिक्षक के पद में पदस्थापना हो जाती है उसके बाद आपकी पदोन्नति होती है तो आप जो 10 वर्ष से कार्य कर  वह जूनियर हो जायेगा।     

आज के इस आर्टिकल में शिक्षकों के वरिष्ठता सूचि और पदोन्नति की जानकारी बताई गयी है। साथ ही लोकशिक्षकण संचालनालय द्वारा वरिष्ठता सूचि बनाने के निर्देश की जानकारी भी बताई गयी है। ये जानकारी अन्य लोगों में भी जरूर शेयर करें। 

ये  महत्वपूर्ण जानकारी भी पढ़ें :



लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें आपको निचे ग्रुप का लिंक दिया गया है आप यहाँ से सीधे ज्वाइन कर कर सकते है। 

Post a Comment

0 Comments